शुक्रवार, 13 जनवरी 2012

Vigyan ke yuig me mugalkalin darbar






वैज्ञानिक युग में अगर मुगलों का दरबार लगे तो कैसा होगा यही दिखाने की कौशिश की गयी है इस नाटक में कैसे मोबाईल का प्रयोग कर अनारकली सलीम को बुलाती है और जब अकबर को पता चलता है तो अनारकली धनदौलत वाले बाप यानि अकबर के पास चली आती है.
आज के दुसरे नाटक में पानी बचाओ और पानी की वर्ष २०५० में क्या इस्थिति यही दर्शाया गया है.

1 टिप्पणी:

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...